Mahaguru Ji says, not everybody should chant Gayatri Mantra. Do Naam Jap with Om Hari Hari instead

Mahaguru Ji said,” विश्वामित्र ने गायत्री मंत्र का उपयोग अपनी स्वयं की एक सृष्टि बनाने के लिए किया था। यह गायत्री की शक्ति है। गायत्री 108 बार जप करने के लिए नहीं होती, हर किसी के लिए नहीं होती, और हर समय के लिए नहीं होती।

जो परमात्मा से भी अलग, अपनी स्वयं की सृष्टि बना सकती है, ऐसी जीवन दायिनी शक्ति, सोचो एक बिंदु भी आगे पीछे हो जाए बोलते समय, तो उससे उस मनुष्य के जीवन पर क्या प्रभाव पड़ता होगा।

बिना मंत्र लिए तो गायत्री बड़े से बड़े ब्राह्मण को भी नहीं उच्चारित करना चाहिए, और हर ब्राह्मण को मंत्र अवश्य लेना चाहिए। ”

Mahaguru Ji said, rather everyone should do as much as they can “Naam Jap”. Use “Om Hari Hari” if you have taken mantra from Ashram, or just “Hari Hari” and chant prabhu naam as many times as you can, Gods will certainly bless you.

Leave a Reply

Your email address will not be published.